उप संचालक नगरीय प्रशासन करेगी मातृभूमि और मातृशक्ति की जांच 
एनयूएलएम अनूपपुर के कार्यालय में पहुची टीम 
अनूपपुर- एक बार नगरपालिका अनूपपुर में वास्तु दोष जाग गया है और फिर नगरपालिका भरष्टचार के आरोपों में घिर गई है दरअसल वित्तीय अनियमितताओं के मामले में सुर्खियों में रहने वाला अनूपपुर नगरपालिका एक बार फिर फर्जी रूप से एनजीओ के नाम करोडों की राशि गबन करने का जिन्न जाग गया है और जांच के घेरे में आ गई नगर पालिका।  उपसंचालक नगरीय प्रशासक शहडोल की तीन सदस्यी टीम ने नगरपालिका अनूपपुर पर छापेमारी कार्रवाई की, जहां दीनदयाल अंत्योदय योजना राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन से सम्बंधित कागजातों की छानबीन आरम्भ की है। जांच अधिकारी उपसंचालक नगरीय प्रशासन शहडोल आरपी सिंह का कहना है कि इस सम्बंध में दो व्यक्तियों द्वारा शिकायत की गई थी, जिसमें एक भोपाल तथा दूसरा अनूपपुर निवासी है। जिसकी शिकायत पर भोपाल संचालनालय द्वारा जारी निर्देश में यह जांच शुरू हुई है । इससे पहले भी एक अन्य मामले में उपसंचालक नगरीय प्रशासन शहडोल की टीम द्वारा जांच कार्रवाई करते हुए जांच रिपोर्ट भोपाल को भेजी गई है। साथ ही कहा कि उनमें शामिल लगभग १७ लोगों के खिलाफ आरोप पत्र जारी किए गए हैं। लेकिन इन दोनों सम्बंध में जांच अधिकारी ने कोई विशेष जानकारी नहीं दी। उनका कहना है कि जब जांच प्रक्रिया पूरी हो जाएगी तो वे पूरी जानकारी देंगे। इस दौरान उन्होंने कहा कि इस जांच कार्रवाई में दो-तीन दिन का समय लग सकता है। फिलहाल उपसंचालक नगरीय प्रशासन शहडोल की टीम जांच में जुटी है। जांच कमेटी से जुड़े विश्वस्त सूत्रों जिसने नाम नहीं छापने की बात पर जानकारी देते हुए बताया कि इस वित्तीय अनियमितता व फर्जी भुगतान के मामले में एनयूएलएम के तत्कालीन प्रभारी एवं उनकी पत्नी द्वारा फर्जी एनजीओ मातृ शक्ति और मातृभूमि तैयार कर फर्जी प्रशिक्षण के नाम पैसे की निकासी की है। जिसमें वित्तीय मामले से सम्बंधित अनेक मामले और सामने आएंगे। अब देखना यह है कि अक्सर सुर्खियों में रहने वाला अनूपपुर नगरपालिका के इस बड़े घोटाले का पर्दा फास हो पायेगा या आरोपी वास्तुदोष की वजह से बच निकलने में कामयाब हो जाएंगे ये तो जांच पूरी होने के बाद ही पता चल पाएगा