5 वर्षीय बालक के अपहरण और हत्या के मामले खुलासा: पड़ोस में रहने वाले युवक ने दुष्कर्म के बाद की थी हत्या,आरोपी युवक और उसकी बहन गिरफ्तार

 

 

 

 


रतलाम,4मई(खबरबाबा.काम)। माणकचौक थानांतर्गत हाट की चौकी क्षेत्र निवासी 5 वर्षीय बालक का अपहरण कर जघन्य हत्या करने के मामले का पुलिस ने खुलासा कर दिया है।पुलिस ने इस मामले में बालक के पड़ोस में रहने वाले एक युवक और उसकी बहन को गिरफ्तार किया है । पुलिस के अनुसार आरोपी युवक ने बालक के साथ अप्राकृतिक कृत्य करने के बाद उसकी हत्या कर दी।


शनिवार को पुलिस कंट्रोल रूम पर डीआईजी गौरव राजपूत और एसपी गौरव तिवारी ने इस बहुचर्चित सनसनीखेज मामले का खुलासा किया।  दो सौ से ज्यादा मकानों की सर्चिंग,हजार वाहनों की जांच, सौ से अधिक लोगों से पूछताछ, और करीब सौ पुलिस कर्मियों की टीमों द्वारा लगातार की गई मेहनत के बाद आखिरकार पुलिस ने हॉट की चौकी क्षेत्र निवासी पांच वर्षीय बालक की हत्या के रहस्य को सुलझा लिया है। हत्या उसी के पडोसी युवक सोहेल ने बालक के साथ अप्राकृतिक कृतय करने के बाद की थी। हत्या के साक्ष्य मिटाने में उसकी बहन कश्मीरा ने भी उसका साथ दिया था। पुलिस ने दोनो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस उपमहानिरीक्षक गौरव राजपूत ने बताया कि विगत 13 अप्रैल को हाट की चौकी इलाके में घर के बाहर खेल रहा पांच वर्षीय बालक अचानक लापता हो गया था। परिजनों ने उसे काफी खोजा और फिर नहीं मिलने पर उसके गुमशुदा होने की रिपोर्ट दर्ज करवाई थी।
बालक की गुमशुदगी के बाद पुलिस ने उसकी तलाश के लिए सर्च आपरेशन शुरु किया,लेकिन कई कोशिशों के बावजूद उसका कोई पता नहीं मिल पाया। पुलिस की सर्चिंग जारी रही। घटना के करीब दस दिन बाद बालक का शव एक बोरी में बंधा हुआ,उसके घर के निकट के नाले से बरामद हुआ। बालक का शव सामने आने के बाद पुलिस के लिए चुनौती और बडी हो गई। पुलिस ने इस मामले में सुराग देने पर तीस हजार रु.ईनाम की घोषणा भी की थी।
मृत बालक के पोस्टमार्टम से यह तथ्य सामने आए थे कि बालक की मृत्यु उसके मुंह और नाक पर सेलो टैप चिपके होने से आक्सिजन की कमी के कारण हुई थी। पोस्टमार्टम में यह भी संभावना जताई गई थी उसके साथ अप्राकृतिक कृत्य किया गया था।
पुलिस ने बारीकी से सघन जांच प्रारंभ की। बालक का शव बोरे में मिला था और इस बोरे में सिलाई में प्रयुक्त होने वाले रंगीन धागे भी बरामद हुए थे। इस साक्ष्यों की वैज्ञानिक तरीके से जांच की गई। आसपास के जिन स्थानों पर टेलरिंग का काम किया जाता है,उनके घरों की सर्चिंग और पूछताछ की गई।
जांच के दौरान मृत बालक के घर के पास में रहने वाले सोहेल पर पुलिस को शंका हुई। पुलिस ने जांच के दौरान पहले भी सोहेल को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया था,परंतु मृत बालक के परिजनों ने ही उसे संदेह से परे बताते हुए पुलिस से छुडवा लिया था। लेकिन बाद में पुलिस की गहन जांच में सोहेल के विरुध्द साक्ष्य मिलते गए और जब पुलिस ने कडी पूछताछ की तो बालक के साथ हुए हादसे का पूरा सच सामने आ गया।
डीआईजी श्री राजपूत ने बताया कि आरोपी सोहेल ने मोबाइल पर पोर्न क्लिपिंग देखने के बाद तातकालिक उत्तेजना के चलते घर के बाहर खेल रहे बालक को अपने घर में बुलाया और उसके साथ अप्राकृतिक कृत्य किया। इसके बाद उसने बालक के हाथ पैरों को सैलो टेप से बांध दिया और उसके नाक व मुंह पर भी सैलो टेप चिपका दिया। इसी वजह से दम घुटने से उसकी मौत हो गई। सोहेल ने मृत बालक के शव को अपने घर की वाशिंग मशीन में छुपा दिया।

बालक का शव वाशिंग मशीन में छुपा होने की जानकारी सोहेल की बहन कश्मीरा को मिल गई थी। बाद में कश्मीरा और सोहेल ने मिलकर फैजान के शव को फिर से दो नए बोरों में पैक किया और इन बोरों को घर के पीछे वाले नाले में फेंक दिया। शव को नाले में फेंकने के बाद सोहेल बालक के परिजनों के साथ उसे ढूंढने का नाटक करता रहा,लेकिन पुलिस की गहन जांच के बाद आखिरकार उसका अपराध सामने आ ही गया।
पुलिस ने आरोपी सोहेल उर्फ मोनू पिता अल्ताफ अंसारी 19 और उसकी बहन कश्मीरा पति शाकिर 25 नि.खजराना इंदौर हाल मुकाम हाट की चौकी रतलाम को गिरफतार कर लिया है। उनके विरुद्ध हत्या,साक्ष्य मिटाने का प्रयास जैसी धाराओं के साथ पाक्सो एक्ट के तहत भी मामला दर्ज किया गया है।
डीआईजी श्री राजपूत ने बताया कि आरोपी सोहेल का अपराध उजागर करने के लिए पुलिस पूरी तरह से वैज्ञानिक अनुसंधान किया। उसके डीएनए सैंपल,शव पर मिले रंगीन धागों इत्यादि से मिलाए गए और निर्विवाद रुप से यह स्थापित किया गया कि बालक की हत्या सोहेल के द्वारा की गई है। जबकि पुलिस की पूछताछ के दौरान वह पुलिस को भटकाने के लिए कई बार गलतबयानी करता रहा।

डीआई जी श्री राजपूत ने बताया कि यह अत्यंत जघन्य कोटि का अपराध है इसलिए इसे फास्टट्रैक में रखा जाएगा। आरोपी के विरुध्द सप्ताह भर में चालान पेश किया जाएगा और उसे शीघ्रतिशीघ्र कडी से कडी सजा दिलवाई जाएगी।