लंदन: जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) से आर्टिकल 370 (Article 370) और 35A को निष्प्रभावी किए जाने के बाद से ही पाकिस्तान (Pakistan) दुनियाभर में प्रोपेगेंडा फैलाने में जुटा हुआ है. साथ ही भारत को युद्ध के लिए भी ललकार रहा है. इन सबके बीच पाकिस्तान की खस्ता माली हालत की पोल उसके ही देश की एक महिला स्कॉलर ने खोल दी है. पाकिस्तानी स्कॉलर, लेखक और रक्षा मामलों की विशेषज्ञ आयशा सिद्दीका (Ayesha Siddiqa) ने पाकिस्तान और उसकी सेना को आईना दिखाते हुए कश्मीर को भूल जाने की हिदायत दी है. 

रक्षा मामलों की विशेषज्ञ आयशा सिद्दीका (Ayesha Siddiqa) ने कहा कि पाकिस्तान और उसकी सेना कश्मीर को लेकर भारत के साथ युद्ध छेड़ने की स्थिति में नहीं है. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान में आर्थिक मंदी और बढ़ती महंगाई ने पाकिस्तानी अवाम पर मुसीबतों का पहाड़ गिरा दिया है. ऐसे में भारत के साथ युद्ध की बात करना पाकिस्तान और उसकी सेना के लिए सही नहीं है. आयशा सिद्दीका ने सिने इंक से बातचीत में यह बात कही.
आयशा ने कहा कि मैंने अपने पाक अधिकृत कश्मीर के एक दोस्त से पूछा कि सेना युद्ध क्यों नहीं कर रही है. इस पर मेरे मित्र ने जवाब दिया कि पाकिस्तानी सेना हार जाएगी. अब, आम जनता भी समझती है कि यह भारत के खिलाफ युद्ध लड़ने का सही समय नहीं है. उन्होंने कहा कि यह पहली बार है कि पाकिस्तान की जनता को अहसास हो रहा है कि युद्ध मुमकिन नहीं है. इसमें दर्द है और घोर दुख है. लेकिन ऐसा नहीं है कि कुछ नहीं हो सकता. पाकिस्तानी सेना इस पर कैसे रिएक्ट करेगी यह देखना होगा.  


आयाशा सिद्दीका ने कहा कि बीते 72 सालों से पाकिस्तान का फोकस कश्मीर और भारत पर था. एक दिन वो उठे और पता चला कि कुछ बचा ही नहीं है. उन्होंने कहा कि पाकिस्तानी सेना में कुछ समूह हैं, जो गहरे दुख और गुस्से में हैं. उन्होंने कहा कि ये समूह सवाल उठाएंगे कि पाकिस्तान ने क्या किया. 

बता दें कि पाकिस्तान को अपेन प्रोपेगेंडा के चलते हर जगह से मुंह की खानी पड़ रही है. हाल ही में यूएन में पाकिस्तान की ओर से कश्मीर का मुद्दा उठाया गया था. इस पर यूएन ने साफ शब्दों में कहा था कि यह भारत का आंतरिक मामला है.