पर्यावरण नियोजन एवं समन्वय संगठन (एप्को) ने आज से भोपाल के एमएलबी गर्ल्स कॉलेज और शासकीय माध्यमिक शाला, सीटीओ, बैरागढ़ में ग्रीन गणेश अभियान शुरू किया। इस मौके पर कार्यशाला में एप्को टीम ने विद्यार्थियों को मिट्टी की गणेश प्रतिमाएँ बनाने का प्रशिक्षण दिया। विद्यार्थियों को प्लास्टर ऑफ पेरिस एवं रासायनिक रंगों से बनी प्रतिमाओं के जल में विसर्जन से होने वाले दुष्प्रभावों की जानकारी भी दी गई।

कार्यशाला में विद्यार्थियों को मिट्टी उपलब्ध कराई गई। मूर्ति निर्माण पूरा होने पर उन्हें प्राकृतिक रूप से उपलब्ध रंगों हल्दी, रामरस, गेरुआ, खड़िया मिट्टी आदि से रंगना भी सिखाया गया। विद्यार्थियों को गणेश प्रतिमा के निर्माण के समय सीड गणेश तकनीक भी बताई गई। इस तकनीक में फल-फूल एवं सब्जियों के बीजों को प्रतिमा में रखना एवं इन प्रतिमाओं को गमले में विसर्जन उपरांत पौधों के रूप में विकसित किये जाने के बारे में बताया गया। एप्को के अधीक्षण यंत्री श्री जे.पी. नामदेव ने बताया कि बढ़ती आबादी एवं रहवासी क्षेत्रों के कारण शहर के जल-स्रोत लगातार प्रदूषित हो रहे हैं। पर्यावरण संरक्षण की दृष्टि से इन्हें सुरक्षित रखने की जिम्मेदारी प्रत्येक नागरिक की है।

एप्को के कार्यपालन यंत्री श्री राजेश रायकवार ने पावर प्वाइंट प्रजेंटेशन के माध्यम से प्रदूषण से जलीय वनस्पति के नष्ट होने एवं ऑक्सीजन की कमी के बारे में जानकारी दी।