नई दिल्ली । टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी विश्व कप के सबसे अनुभवी क्रिकेटर हैं। उन्होंने भारत की तरफ से 338 एकदिवसीय (कुल 341) मैच खेले हैं। उनके अलावा किसी भी अन्य खिलाड़ी ने 300 एकदिवसीय मैच नहीं खेले हैं। असल में भारतीय टीम के सभी खिलाड़ियों ने कुल मिलाकर 1573 एकदिवसीय मैच खेल हैं और इस मामले में कप्तान विराट कोहली की भारतीय टीम सभी टीमों से काफी आगे हैं। भारत की तरफ से धोनी के अलावा कोहली (227), रोहित शर्मा (206), रविंद्र जडेजा (151), शिखर धवन (128) और भुवनेश्वर कुमार (105) ने भी 100 से अधिक एकदिवसीय खेले हैं। भारत के बाद बांग्लादेश की टीम का नंबर आता है जिसके सभी खिलाड़ियों के कुल मैचों की संख्या 1341 बैठती है।
धोनी के बाद वेस्ट इंडीज के क्रिस गेल विश्व कप में भाग लेने वाले दूसरे सबसे अधिक अनुभवी खिलाड़ी हैं। इस 39 वर्षीय क्रिकेटर ने अब तक 289 मैच खेले हैं। गेल उम्र के मामले में भी ताहिर के बाद सबसे उम्रदराज खिलाड़ियों में दूसरे नंबर पर हैं।  विश्व कप में भाग ले रही टीमों में सर्वाधिक 90 शतक भारतीय खिलाड़ियों के नाम पर ही दर्ज हैं। इनमें से कप्तान कोहली के नाम पर ही 41 शतक दर्ज हैं जबकि रोहित ने 22, धवन ने 16 और धोनी ने 10 शतक लगाये हैं। भारत ने विश्व कप में अब तक अपनी सबसे उम्रदराज टीम उतारी है जो ब्रिटेन में 30 मई से शुरू होने वाली इस क्रिकेट प्रतियोगिता में सबसे अधिक अनुभवी टीम के रूप में भी आगाज करेगी। भारतीय टीम की औसत उम्र 29.53 वर्ष है। धोनी 37 साल सबसे अधिक उम्र के जबकि कुलदीप यादव 24 साल सबसे कम उम्र के खिलाड़ी शामिल हैं। विश्व कप में भाग ले रही दस टीमों में श्रीलंका 29.9 और दक्षिण अफ्रीका 29.5 के बाद भारतीय टीम सबसे अधिक उम्रदराज है।