मुंबई । सोयाबीन वायदा जून में 3,750 रुपए के स्तर के नजदीक खरीदारी जारी रह सकती है। डॉलर के मुकाबले रुपया कमजोर होने और कम कीमतों पर बेहतर मांग की वजह से कीमतें 3,770-3,780 रुपए तक पहुंच सकती है। वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय और चीन के कस्टम विभाग के चीनी बाजार के लिए अधिक कृषि उत्पादों को स्वीकृति देने के भारत के लंबित अनुरोध से संबंधित मुद्दों पर चर्चा करने के बाद कारोबारियों को उम्मीद नजर आ रही है। परिणामतः सोयामील के लिए ड्राफ्ट प्रोटोकॉल को जल्द ही अंतिम रूप दिया जाएगा। अमेरिका-चीन के बीच व्यापार को लेकर तनाव के गहराने के कारण अमेरिकी सोयाबीन वायदा की कीमतों में मामूली बढ़ोतरी हुई है। अमेरिकी कृषि विभाग के अनुसार 9  फीसदी क्षेत्रों में सोयाबीन की बुआई हो चुकी है, जो समान अवधि में पिछले पाँच के औसत से 29 फीसदी कम है। सोया तेल वायदा की कीमतों का रुझान पूरी तरह से डॉलर के मुकाबले रुपए के कारोबार पर निर्भर करेगा, जो यूएस और चीन के बीच बढ़ते व्यापार युद्ध के कारण कमजोर हो रहा है, जिससे आयात महंगा हो गया है।